Agneepath Scheme Protest : प्रदर्शनकारी बना रहे ट्रेनों को निशाना , जानिए कितने की बनती है एक बोगी।

0
33
Scheme Protest

Agneepath Scheme Protest :  एक बड़ी खबर सामने आ रही है की पिछले तीन दिनों से सेंट्रल गवर्नमेंट की योजना जिसका नाम है ‘ अग्निपथ योजना ‘ का खूब विरोद हो रहा है। और तो और प्रदर्शनकारियों ने अब तक कई ट्रेनों को आग लगा दी है , परंतु, क्या आपको पता है की यह प्रदर्शनकारी विरोद जताने के लिए जिन ट्रेनों में आग लगा रहे है , उन ट्रेनों को बनाने में कितना खर्चा आता है ।

अग्निपथ ( Agneepath Scheme Protest ) स्कीम विरोद

 Scheme Protest

भारत की केंद्रीय सरकार ने सेनाओ में भर्ती करने के लिए ‘ अग्निपथ योजना ‘ शुरू करने का ऎलान किया है । आपको बता दे की इस योजना का पुरे देश में विरोद हो रहा है। इस योजना का विरोद करने वाले प्रदर्शन करियो ने पिछले तीन दिनों में उन्होंने कई ट्रेनों में आग लगा दी है। ट्रेनों में आग लगाने की वीडियो भी सामने आई है , परंतु क्या आप जानते है की जो प्रदर्शन करियो इस योजना का विरोद जताने के लिए जिन ट्रेनों को टारगेट कर रहे है क्या वो जानते है की ट्रैन को बनाने का खर्चा कितना आता है।

ट्रैन का इंजन

 Scheme Protest

हम आपको बताते है की एक ट्रैन को बनाने के लिए कितना खर्चा आता है , उससे पहले आप यह जान लीजिए की ट्रैन के दो हिस्सा होते है । ट्रैन का पहला हिस्सा इंजन होता है। और वही ट्रैन का दूसरे हिस्सा कोच का होता है । ट्रैन का जो इंजन होता है उससे पूरी ट्रैन को कमांड दी जाती है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार , ट्रैन के एक इंजन को बनाने के लिए कुल लग भग 20 करोड़ रूपए का खर्चा आता है। आपको बता दे की यह तो ट्रैन का खर्चा बहुत कम है , और तो और जो ट्रैन के इंजन है वो तो भारत में ही बनते है।

कोच को बनाने का खर्चा

 Scheme Protest

भारतीय ट्रैन के इंजन के आलावा उसमे कई तरह के कोच भी होते है। आपको यह भी बता दे की ट्रैन के कोच को बनाने में कुल लग भग 2 करोड़ रूपए का खर्चा आता है। इनकी कीमत कोच की सुविधा के हिसाब से अलग – अलग होता है। जनरल और साथ ही स्लीपर कोच के मुकाबले एसी का कोच बहुत ज्यादा महंगे होते है।